Print Friendly, PDF & Email

[मिशन 2022| सिक्योर- 2022] फुल लेंथ सिक्योर रिवीजन टेस्ट: 15 मार्च 2022

How to Self-evaluate your answer? 

MISSION – 2022: YEARLONG TIMETABLE

 

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर 150 शब्दों में दीजिए:


सामान्य अध्ययनI


 

विषय: महिलाओं एवं महिला संगठन की भूमिका।

 

  1. सार्वजनिक स्वास्थ्य पहलों के माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता एवं कवरेज पर ध्यान देने से भारत में मातृ मृत्यु दर (MMR) में कमी आई है। हालांकि एसडीजी-3 हासिल करने के लिए उच्च मृत्यु दर दर्शाने वाले राज्यों में सटीक फोकस जारी रखा जाना चाहिए। चर्चा कीजिए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: मध्यम

सन्दर्भ: Down to Earth

निर्देशक शब्द:

चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
भारत में मातृ मृत्यु दर (MMR) में कमी के संबंध में आंकड़े प्रस्तुत करते हुए उत्तर की शुरुआत कीजिए एवं दर्शाइए कि कुछ राज्यों में शेष राज्यों की तुलना में मातृ मृत्यु की उच्च दर है।

विषय वस्तु:
मातृ मृत्यु दर में कमी की प्रवृत्ति में योगदान देने वाले कारणों का उल्लेख कीजिए।
निम्न प्रदर्शन करने वाले राज्यों में मृत्यु दर को कम करने के लिए आवश्यक उपायों का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:
आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

 


सामान्यअध्ययनII


 

 

विषय: संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय।

 

  1. परमाणु हथियारों एवं प्रसार जोखिमों से बचने के साथ-साथ पश्चिम एशियाई भू-राजनीतिक सुरक्षा को बढ़ावा देने तथा वैश्विक आर्थिक विचारों को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) को पुनर्जीवित करना आवश्यक है। विश्लेषण कीजिए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: कठिन

सन्दर्भ: The Hindu

निर्देशक शब्द:

विश्लेषण कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के बहुआयामी सन्दर्भों जैसे क्या, क्यों, कैसे आदि पर ध्यान देते हुए उत्तर लेखन कीजिए।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) एवं उसके 2015 के समझौते के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रस्तुत करते हुए उत्तर की शुरुआत कीजिए।

विषय वस्तु:
संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) परमाणु प्रसार एवं परमाणु जोखिम को रोकने में कैसे भूमिका निभाती है? स्पष्ट कीजिए।
पश्चिम एशिया में भू-राजनीतिक सुरक्षा एवं स्थिरता सुनिश्चित करने में संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) की भूमिका के बारे में लिखिए।
संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) वैश्विक आर्थिक विचारों में कैसे भूमिका निभाती है। समझाइए।

निष्कर्ष:
संयुक्त व्यापक कार्य योजना (JCPOA) को पुनर्जीवित कैसे किया जा सकता है? आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: समावेशी विकास एवं इससे उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

 

  1. सूक्ष्मवित्त (माइक्रोफाइनेंस) राष्ट्रीय नीतियों की उपलब्धि को सुगम बना सकता है, जो गरीबी में कमी, महिलाओं के सशक्तिकरण, कमजोर समूहों की सहायता एवं जीवन स्तर में सुधार को लक्षित करती हैं। स्पष्ट कीजिए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: मध्यम

सन्दर्भ: The Hindu

निर्देशक शब्द:

स्पष्ट कीजिए- ऐसे प्रश्नों में अभ्यर्थी से अपेक्षा की जाती है कि वह पूछे गए प्रश्न से संबंधित जानकारियों को सरल भाषा में व्यक्त कर दे।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
सूक्ष्मवित्त (माइक्रोफाइनेंस) को परिभाषित करते हुए उत्तर की शुरूआत कीजिए एवं भारत में सूक्ष्मवित्त (माइक्रोफाइनेंस) के विकास का संदर्भ प्रस्तुत कीजिए।

विषय वस्तु:
उदाहरण के साथ, गरीबी कम करने, महिलाओं के सशक्तिकरण, कमजोर समूहों की सहायता करने एवं जीवन स्तर में सुधार लाने में सूक्ष्म वित्त की भूमिकाओं का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:
समावेशी विकास में सूक्ष्म वित्त की भूमिका को सारांशित करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

 


सामान्यअध्ययनIII


 

विषय: सरकारी बजटन।

 

  1. बजट सरकार का एक केंद्रीय नीति दस्तावेज है, जिसमें दर्शाया जाता है कि यह अपने वार्षिक उद्देश्यों को कैसे प्राथमिकता देगा एवं प्राप्त करेगा। हालांकि, उद्देश्यों की समग्र उपलब्धि सुनिश्चित करने के लिए बजट प्रणाली एवं इसके कार्यान्वयन में कमजोरियों को दूर किया जाना चाहिए। विश्लेषण कीजिए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: सरल

सन्दर्भ:  Insights on India

निर्देशक शब्द:

विश्लेषण कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के बहुआयामी सन्दर्भों जैसे क्या, क्यों, कैसे आदि पर ध्यान देते हुए उत्तर लेखन कीजिए।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
बजट को परिभाषित कीजिए एवं इसके प्रमुख उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

विषय वस्तु:
बजट वार्षिक उद्देश्यों को प्राप्त करने की रूपरेखा कैसे प्रदान करता है? इस पर विस्तार से प्रकाश डालिए।
बजट प्रणाली की कमजोरियों एवं उसके कार्यान्वयन का उल्लेख कीजिए।
बजटीय उद्देश्यों की प्राप्ति सुनिश्चित करने के लिए उपर्युक्त कमजोरियों को दूर करने के उपायों का सुझाव दीजिए।

निष्कर्ष:
आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन एवं औद्योगिक विकास पर उनके प्रभाव।

 

  1. भारत में एमएसएमई क्षेत्र के विकास के लिए केंद्रीय बजट 2022-23 में शामिल प्रावधानों को सूचीबद्ध कीजिए। एमएसएमई के लिए अतिरिक्त कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को सुनिश्चित करने में आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ECLGS) की क्षमताओं की जाँच कीजिए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: कठिन

सन्दर्भ: Insights on India

निर्देशक शब्द:

जांच कीजिए- ऐसे प्रश्नों का उत्तर देते समय उस कथन अथवा विषय के पक्ष और विपक्ष दोनों का परीक्षण करते हुए सारगर्भित उत्तर लिखना चाहिए।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
भारत में एमएसएमई क्षेत्र के दायरे का उल्लेख करते हुए उत्तर की शुरुआत कीजिए।

विषय वस्तु:
हाल के बजट में भारत में एमएसएमई क्षेत्र के लिए किए गए प्रावधानों की गणना कीजिए।आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ECLGS), इसके लक्ष्य एवं उद्देश्यों, इसकी विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
एमएसएमई के लिए अतिरिक्त कार्यशील पूंजी की उपलब्धता सुनिश्चित करने में योजना के लाभों के बारे में लिखिए।
योजना की सीमाओं का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:
उपर्युक्त सीमाओं को पार करने के लिए आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: आपदा एवं आपदा प्रबंधन।

 

  1. पूर्व चेतावनी प्रणालियाँ आपदा जोखिम को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं क्योंकि वे जीवन की क्षति को रोकने के साथ-साथ प्राकृतिक खतरों के आर्थिक प्रभाव को कम करती हैं। इसलिए, उन्हें आपदा प्रबंधन में पर्याप्त महत्व दिया जाना चाहिए। समझाइए। (250 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: मध्यम

सन्दर्भ: The Hindu

निर्देशक शब्द:

समझाइए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय प्रश्न से संबंधित सूचना अथवा जानकारी को सरल भाषा में प्रस्तुत कीजिए।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
आपदा प्रबंधन के भाग के रूप में प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली को सोदाहरण परिभाषित करते हुए उत्तर की शुरूआत कीजिए।

विषय वस्तु:
विभिन्न आपदाओं के लिए विभिन्न प्रकार की पूर्व चेतावनी प्रणालियों का उल्लेख कीजिए।
आपदा के दौरान जानमाल की क्षति को रोकने में पूर्व चेतावनी प्रणालियों की भूमिका का उल्लेख कीजिए।
प्राकृतिक खतरों के आर्थिक प्रभाव को कम करने में पूर्व चेतावनी प्रणालियों की भूमिका के बारे में लिखिए।
इस संबंध में सेंडाई फ्रेमवर्क की सिफारिशों का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:
आपदा प्रतिक्रिया के एक महत्वपूर्ण भाग के रूप में पूर्व चेतावनी प्रणालियों को शामिल करने के लिए आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

 


सामान्यअध्ययनIV


 

विषय: अंतरराष्ट्रीय संबंधों एवं वित्त पोषण में शामिल नैतिक मुद्दे

 

  1. यदि हम बहुलवाद, उत्तरदायित्व एवं निष्पक्षता को कायम रख सकते हैं, तो अंतरराष्ट्रीय संबंधों में नैतिकता एक मानक सिद्धांत से एक अभ्यास सिद्धांत में बदल जाएगी। विस्तार से समझाइए। (150 शब्द)

 

प्रश्न का स्तर: मध्यम

निर्देशक शब्द:

समझाइए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय प्रश्न से संबंधित सूचना अथवा जानकारी को सरल भाषा में प्रस्तुत कीजिए।

उत्तर की संरचना:

परिचय:
अंतरराष्ट्रीय संबंधों में नैतिक मुद्दों का वर्णन करते हुए उत्तर प्रारंभ कीजिए।

विषय वस्तु:
अंतरराष्ट्रीय संबंधों में नैतिकता एक सिद्धांत मात्र कैसे बनी रहती है? समझाइए।
उपर्युक्त को सोदाहरण सिद्ध कीजिए।
बहुलवाद, उत्तरदायित्व एवं निष्पक्षता अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में नैतिकता को बदलने में कैसे विभेद ला सकती है? स्पष्ट कीजिए। इन्हें विश्व भर में हाल की घटनाओं से जोड़ें।

निष्कर्ष:
अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में नैतिकता को कायम रखने की आवश्यकता का उल्लेख करते हुए निष्कर्ष निकालिए।