Print Friendly, PDF & Email

[इनसाइट्स सिक्योर STHIR – 2021] दैनिक सिविल सेवा मुख्य परीक्षा उत्तर लेखन अभ्यास: 1 जनवरी 2021

 

How to Follow Secure Initiative?

How to Self-evaluate your answer? 

INSIGHTS NEW SECURE – 2020: YEARLONG TIMETABLE

 


सामान्य अध्ययन – 1


 

विषय: विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएँ।

1. समुद्र के जल की लवणता विभिन्न भौगोलिक और पारिस्थितिक कारकों के कारण भिन्न-भिन्न स्थानों पर भिन्न- भिन्न होती है। समझाइए। (250 शब्द)

सन्दर्भ:  Certificate of Human and Physical Geography by G.C Leong.

निर्देशक शब्द:

समझाइये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय प्रश्न से संबंधित सूचना अथवा जानकारी को सरल भाषा में प्रस्तुत कीजिये।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

समुद्री लवणता को परिभाषित कीजिए एवं समझाइए कि यह अक्षांशीय विविधताओं और गहराई के साथ कैसे परिवर्तित होती है।

 विषय वस्तु:

समुद्री लवणता में परिवर्तन को प्रभावित करने वाले कारकों पर चर्चा कीजिए।

समुद्री लवणता की ऐसी विविधताओं के प्रभावों पर चर्चा कीजिए।

निष्कर्ष:

विश्व भर के महासागरों पर लवणता के प्रभावों का उल्लेख करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

  

विषय: विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएँ।

 2. महासागरीय धाराओं के निर्माण के लिए उत्तरदायी कारकों की व्याख्या कीजिए। सारगैसो सागर के निर्माण के क्या कारण हैं? (250 शब्द)

सन्दर्भ:  Certificate of Human and Physical Geography by G.C Leong.

 निर्देशक शब्द:

व्याख्या कीजिये- प्रश्न में पूछी गई जानकारी को सरल भाषा में व्यक्त कीजिये।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

महासागरीय धाराओं को परिभाषित करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए। 

विषय वस्तु:

प्रमुख महासागरीय धाराओं को दर्शाने वाला एक छोटा सा मानचित्र प्रस्तुत कीजिए।

उनके निर्माण के लिए उत्तरदायी कारक जैसे: अपघटन, वायुमंडलीय परिसंचरण, गुरुत्वाकर्षण एवं कोरिओलिस बल का प्रभाव, तापमान एवं लवणता में अंतर और जल घनत्व आदि का उल्लेख कीजिए।

सारगैसो सागर का परिचय दीजिए एवं इसके निर्माण के लिए उत्तरदायी कारकों का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:

सारगैसो सागर के महत्व को संक्षेप में प्रस्तुत करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययन – 2


 

विषय: सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय।

3. सैद्धांतिक रूप से विशेष विवाह अधिनियम, 1954 समान नागरिक संहिता की ओर पहला कदम है लेकिन व्यवहारिक रूप में इसका कार्यान्वयन विनोदपूर्ण है। आलोचनात्मक विश्लेषण कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: The Hindu 

 निर्देशक शब्द:

 आलोचनात्मक विश्लेषण कीजिये- ऐसे प्रश्नों का उत्तर देते समय उस कथन अथवा विषय के पक्ष और विपक्ष दोनों में ही तथ्यों को बताते हुए अंत में एक सारगर्भित निष्कर्ष निकालना चाहिए।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

विशेष विवाह अधिनियम (SMA), 1954 के बारे में बताइये एवं इसे लागू किए जाने के कारणों का उल्लेख कीजिए।

 विषय वस्तु:   

समझाइए कि कैसे विशेष विवाह अधिनियम, समान नागरिक संहिता को प्राप्त करने की दिशा में पहला कदम है।

विशेष विवाह अधिनियम के विनोदपूर्ण कार्यान्वयन एवं इसके कार्यान्वयन में अवरोधों के बारे में चर्चा कीजिए।

निष्कर्ष:

विशेष विवाह अधिनियम को उदारवाद और बहुलवाद की अपनी भावना के लिए उचित ठहराने के लिए आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययन – 3


 

विषय: विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और रोज़मर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव।

 4. 5G प्रौद्योगिकी व्यवसाय मॉडल के संदर्भ में संभावनाओं की अधिकता को खोलने के लिए तैयार है एवं इसने एक एवं सभी की जीवन शैली को बेहतर किया है। लेकिन पैमाने की अर्थव्यवस्थाओं का प्रबंधन दूरसंचार कंपनियों के लिए एक बाधा है, जिसे उन्हें दूर करने की आवश्यकता है। टिप्पणी कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: Live Mint

निर्देशक शब्द:

 टिप्पणी कीजिये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय पर अपने ज्ञान और समझ को बताते हुए एक समग्र राय विकसित करनी चाहिए।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

5G तकनीक एवं इसकी विशेषताओं के बारे संक्षेप में बताएं।

 विषय वस्तु:  

5G के द्वारा प्रदान किये जाने वाले अवसरों के बारे में विस्तार से चर्चा कीजिए।

5G के लिए दूरसंचार कंपनियों के लिए पैमाने की अर्थव्यवस्था एक मुद्दा कैसे है? समझाइए।

निष्कर्ष:

ट्राई (TRAI) एवं सरकार द्वारा 2G से चरणबद्ध रूप से बाहर निकलने एवं 5G को प्रोत्साहित करने के लिए आवश्यक ठोस कदमों का सुझाव देते हुए निष्कर्ष निकालिए।

  

विषय: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन।

5. हालांकि भारत अपने पेरिस जलवायु लक्ष्यों को प्राप्त करने के पथ पर अग्रसर है, फिर भी उसे जलवायु प्रमाण विकल्पों तथा जलवायु लचीलता के निर्माण के लिए नीति निर्माताओं, उद्योग प्रमुखों एवं नागरिकों के सहयोगात्मक प्रयासों की आवश्यकता होगी। स्पष्ट कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: The Hindu 

निर्देशक शब्द:

 स्पष्ट कीजिये- ऐसे प्रश्नों में अभ्यर्थी से अपेक्षा की जाती है कि वह पूछे गए प्रश्न से संबंधित जानकारियों को सरल भाषा में व्यक्त कर दे।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

अपनी जलवायु प्रतिबद्धताओं पर भारत के प्रदर्शन का उल्लेख करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

जलवायु प्रतिबद्धताओं के प्रति भारत के लक्ष्यों का उल्लेख कीजिए एवं उन लक्ष्यों को निर्धारित समय सीमा में प्राप्त करने के लिए भारत के प्रदर्शन पर प्रकाश डालिए।

लेख से संकेत लीजिए एवं समझाइए कि एक जलवायु लचीलता वातावरण का निर्माण करने के लिए भारत द्वारा क्या कदम उठाये जाने चाहिए। 

निष्कर्ष:

निष्कर्ष निकालिए कि परस्पर सहयोग के माध्यम से न केवल पेरिस लक्ष्यों बल्कि सतत विकास लक्ष्य संख्या 12, 13 और 17 के करीब भी एक कदम हासिल होगा।

 


सामान्य अध्ययन – 4


 

विषय: कमजोर वर्गों के प्रति समानुभूति, सहिष्णुता एवं करुणा।

 6. समानुभूति, सहानुभूति एवं करुणा के मध्य अंतर स्पष्ट कीजिए। इस नए दशक में सभी जीवित प्राणियों के प्रति करुणा का पूर्ण भावना से पालन किया जाना चाहिए। समझाइए। (150 शब्द)

सन्दर्भ: नैतिकता, सत्यनिष्ठा एवं अभिवृत्ति: लेक्सिकन प्रकाशन

 निर्देशक शब्द:

 स्पष्ट कीजिये- ऐसे प्रश्नों में अभ्यर्थी से अपेक्षा की जाती है कि वह पूछे गए प्रश्न से संबंधित जानकारियों को सरल भाषा में व्यक्त कर दे।

 समझाइये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय प्रश्न से संबंधित सूचना अथवा जानकारी को सरल भाषा में प्रस्तुत कीजिये।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

समानुभूति, सहानुभूति एवं करुणा को परिभाषित करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

विषय वस्तु:

उदाहरणों के साथ समानुभूति, सहानुभूति और करुणा तीनों अवधारणाओं के मध्य अंतर स्पष्ट कीजिए।

वर्तमान समय में अधिक करुणा की आवश्यकता को स्पष्ट कीजिए।

समझाइए कि करुणा कैसे प्रभाव डाल सकती है और हमारे जीवन को बेहतर बना सकती है।

निष्कर्ष:

करुणा के सन्दर्भ में एक उद्धरण प्रस्तुत करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: केस स्टडी।

 7. कोविड-19 की वैक्सीन की सम्भावना में सर्वप्रथम टीकाकरण किये जाने के लिए सरकार ने फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं जैसे- डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय, पुलिस कर्मियों एवं अन्य आवश्यक श्रमिकों की सूची तैयार की थी।

 वैक्सीन आने के पश्चात् पूर्व में अभिलिखित सूची के अनुसार सीमित संख्या में वैक्सीन की शीशियों को वितरित किया जाएगा। एक स्वास्थ्य अधिकारी के रूप में आपको यह सुनिश्चित करने के लिए प्रभारी नियुक्त किया गया है कि आपके शहर में पहले से भर्ती किए गए सभी लोगों को टीका लगाया जाए।

 टीकाकरण के लिए सरकार द्वारा दिए गए निर्देश निम्नानुसार हैं:

 सूची में केवल फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं के रूप में नामांकित किये गए लोगों को ही वैक्सीन दिया जायेगा। स्वास्थ्य अधिकारी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई भी नामांकित फ्रंटलाइन कार्यकर्ता, जो टीकाकरण के दिन उपलब्ध हो, किसी भी कारण से वंचित न रह जाए। 

वैक्सीन की सीमित शेल्फ लाइफ एवं सीमित कोल्ड स्टोरेज सुविधाओं के कारण वैक्सीन आने के बाद समान दिन ही टीकाकरण प्रक्रिया समाप्त करनी होगी।

 यदि वैक्सीन की कोई अतिरिक्त शीशी उपलब्ध है अथवा कोई भी सूचीबद्ध फ्रन्टलाइन कार्यकर्त्ता किसी भी महत्वपूर्ण कारण से वैक्सीन ले पाने में असमर्थ है, तो स्वास्थ्य अधिकारी के विवेकाधिकार के लिए यह छूट दी जाती है कि वह शेष शीशियों का उपयोग करके आम जनता में से किसी भी सर्वाधिक जरूरतमंद व्यक्ति का टीकाकरण करवाए।

 जिस दिन फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं का टीकाकरण किया जाता है, उस दिन टीकाकरण की प्रक्रिया बिना किसी रूकावट के पूरी हो जाती है। प्रक्रिया के अंत में यह पता चला है कि 3 शीशियां शेष बची हैं। एक सूचीबद्ध फ्रंटलाइन कार्यकर्ता के रूप में आपका टीकाकरण किया जाना अभी शेष है तथा इसके साथ ही आपके समक्ष कुछ अत्यंत जरूरतमंद मामले भी हैं:

 ग्रामीण क्षेत्र के एक युवा ने रूस में होने वाली अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक मीट के लिए अर्हता प्राप्त की है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय खेल संघ केवल टीकाकृत उम्मीदवारों को ही मीट में भाग लेने की अनुमति दे रहा है। यह उस युवा के लिए जीवनपर्यन्त केवल एक बार प्राप्त होने वाला अवसर है, जिसने प्रायोजक की अनुपस्थिति में बड़ी मुश्किल से यात्रा के लिए वित्त की व्यवस्था की है। उसके पास देश के लिए ख्याति प्राप्त करने का भी एक अच्छा अवसर है।

 शहर के मेयर, जिन्हे सूची में एक आवश्यक कार्यकर्ता के रूप में शामिल किया था, ने स्वयं का टीकाकरण करवा लिया है। अतिरिक्त शीशियों का पता चलने के बाद, उन्होंने अपनी पत्नी के लिए एक शीशी की मांग की है। उनका कहना है कि उनकी पत्नी मधुमेह से पीड़ित है एवं उन्हें उच्च रक्तचाप भी है और इसप्रकार यह एक अत्यंत जरूरतमंद मामला है। यहां तक ​​कि आपको नगर निगम आयुक्त, जो आपके वरिष्ठ अधिकारी हैं, से भी फोन आता है कि महापौर की पत्नी के टीकाकरण पर विचार किया जाए।

  एक व्यक्ति जो प्रतिरक्षा में अक्षम है एवं उसे जीवनरक्षक शल्य- चिकित्सा की आवश्यकता है। हालांकि अस्पताल टीकाकरण पर जोर नहीं दे रहा है, लेकिन डॉक्टरों को लगता है कि मरीज को टीका लगाया जाए तो बेहतर होगा। यह कोविड -19 के अस्पताल में फैलने वाले संक्रमण के जोखिम को रोक देगा क्योंकि शहर में कोविड के नए स्ट्रेन के कारण मामलों की संख्या बढ़ रही है और जिस अस्पताल में शल्य- चिकित्सा होनी है, उसमें कोविड -19 के रोगियों का इलाज भी किया जा रहा है।

 एक पारिवारिक मित्र जो एक वरिष्ठ चिकित्सक है एवं पड़ोसी शहर में नियुक्त है एवं वैक्सीन के लिए नामांकित है, जो आपका गृहनगर भी है लेकिन वह अपने निजी काम से आपके वर्तमान शहर में आया हुआ है। क्योंकि वह अभी भी आपके शहर में है और वापस जाने में असमर्थ है, अतः वह आपसे वैक्सीन की शीशी के लिए संपर्क करता है।

वह कहता है कि यदि आप उसे वैक्सीन की शीशी देने की अनुमति देते हैं, तो वह पडोसी शहर में उसे आवंटित की जाने वाली वैक्सीन को आपके द्वारा चुने हुए किसी व्यक्ति को दे देगा। वह याद दिलाता है कि यह बेहतर होगा कि आपकी माँ, जो अस्थमा से पीड़ित हैं एवं उन्हें साँस लेने में समस्या होती है, के लिए अपने गृहनगर में ही वैक्सीन मिल जाएगी एवं आप उसे यहाँ अपने शहर में वैक्सीन की एक शीशी उपलब्ध करवा दीजिए।

 वैक्सीन का एक सीमित शैल्फ जीवन है तथा कुछ घंटों में नष्ट हो जाएगी। उपरोक्त परिदृश्यों को देखते हुए, आप वैक्सीन की शीशियों को किसे आवंटित करेंगे? (250 शब्द)

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

केस स्टडी का संदर्भ देते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:   

यह एक बहुत ही रोचक और दुविधापूर्ण केस स्टडी है, जो आपके समानुभूतिक स्वभाव, भावनात्मक बुद्धिमत्ता एवं प्राधिकारियों के प्रति आपकी आज्ञाकारिता का परीक्षण करती है।

सर्वप्रथम मामले के तथ्यों पर प्रकाश डालिए एवं सभी संबंधित हितधारकों का उल्लेख कीजिए।

केस स्टडी को हल करने के लिए दिशानिर्देश इसप्रकार हैं: प्रथम, सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें। द्वितीय, करुणामयी एवं समानुभूतिपूर्ण बनें। तृतीय, केस स्टडी से उत्पन्न होने वाले सभी मुद्दों को संबोधित करें एवं सुनिश्चित करें कि सभी हितधारकों का ध्यान रखा जाए। अंत में, आपको इस तरह की आकस्मिक परिस्थितियों से निपटने के लिए अपनी भावनात्मक बुद्धिमत्ता का प्रदर्शन करना चाहिए।

निष्कर्ष:

नैतिक दर्शन एवं सिद्धांतों के आधार पर आपके द्वारा किए गए कार्यों को सही ठहराते हुए निष्कर्ष निकालिए।


  • Join our Official Telegram Channel HERE for Motivation and Fast Updates
  • Subscribe to our YouTube Channel HERE to watch Motivational and New analysis videos