Print Friendly, PDF & Email

[इनसाइट्स सिक्योर STHIR – 2021] दैनिक सिविल सेवा मुख्य परीक्षा उत्तर लेखन अभ्यास: 31 दिसंबर 2020

 

How to Follow Secure Initiative?

How to Self-evaluate your answer? 

INSIGHTS NEW SECURE – 2020: YEARLONG TIMETABLE

 


सामान्य अध्ययन – 1


 

विषय: विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएँ।

1. पृथ्वी पर तापमान वितरण को प्रभावित करने वाले कारकों पर प्रकाश डालिए। कुछ क्षेत्रों में दूसरों की तुलना में अधिक आतपन प्राप्त करने के बावजूद पृथ्वी पर समग्र ऊष्मा संतुलन पर एक लेख लिखिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: कक्षा- XI NCERT: भौतिक भूगोल के मूल तत्व

निर्देशक शब्द:

प्रकाश डालिये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर लेखन में अभ्यर्थी से अपेक्षा की जाती है कि वह प्रश्न से सम्बंधित प्रासंगिक जानकारियों को सरल भाषा में व्यक्त कर दे।

 लेख लिखिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय पर अपने ज्ञान और समझ के आधार पर उसके सभी पहलुओं को शामिल करते हुए उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

पृथ्वी पर तापमान वितरण एवं इसके प्रभावों के बारे में उल्लेख करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

पृथ्वी पर तापमान वितरण को प्रभावित करने वाले कारकों पर प्रकाश डालिए।

पृथ्वी पर ऊष्मा संतुलन के कारणों का उल्लेख कीजिए।

निष्कर्ष:

पृथ्वी पर ऊष्मा संतुलन बनाए रखने के प्रभावों पर प्रकाश डालते हुए निष्कर्ष निकालिए।

  

विषय: दुनिया के विभिन्न भागों (भारत सहित) में प्राथमिक, द्वितीयक एवं तृतीयक क्षेत्रों के उद्योगों की स्थापना के लिए उत्तरदायी कारक।

 2. भारत के चीनी उद्योगों के दक्षिण दिशा में गमन की बढ़ती प्रवृत्ति पर एक लेख लिखिए। भारत में चीनी उद्योग के समक्ष कौन-कौन सी बड़ी समस्याएं हैं तथा उन्हें कैसे संबोधित किया जा सकता है? (250 शब्द)

सन्दर्भ: www.insightsonindia.com

 निर्देशक शब्द:

लेख लिखिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय पर अपने ज्ञान और समझ के आधार पर उसके सभी पहलुओं को शामिल करते हुए उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

भारत के चीनी उद्योगों के बारे में संक्षेप में उल्लेख करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

चीनी उद्योग के दक्षिण दिशा की ओर स्थानांतरित होने के कारणों का वर्णन कीजिए।

चीनी उद्योग में व्याप्त प्रमुख समस्याओं पर प्रकाश डालिए।

उपरोक्त मुद्दों के समाधान के लिए उपाय सुझाइये।

निष्कर्ष:

चीनी उद्योग को और अधिक आत्मनिर्भर बनाने एवं सरकार पर इसकी निर्भरता को कम करने के लिए समाधान की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययन – 2


 

विषय: स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय।

3. महिला सशक्तिकरण एवं लैंगिक समानता के लक्ष्य को पूरा करने की दिशा में महिलाओं के लिए अच्छी और सस्ती इंटरनेट उपलब्धता एक बड़ा कदम होगा। भारत में महिलाओं के इंटरनेट उपयोग पर राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 (NFHS-5) के निष्कर्षों के आलोक में विस्तृत चर्चा कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: Down to Earth 

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण- 5 के निष्कर्षों के आलोक में पुरुषों और महिलाओं के बीच इंटरनेट के उपयोग में असमानताओं का संदर्भ प्रस्तुत करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:   

भारत में महिलाओं के बीच कम इंटरनेट उपयोग के कारण बताइए।

महिला सशक्तिकरण और लैंगिक समानता को प्राप्त करने में इंटरनेट कैसे भूमिका निभा सकता है? समझाइए।

भारत में ग्रामीण महिलाओं को सामाजिक और / या उद्यमशील सूक्ष्म उद्यमों की स्थापना में सहायता करने के लिए सफल मिशन जैसे वुमेन फॉर एम्पावरमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप (W2E2) प्लेटफॉर्म डिजिटल टूल, इंटरनेट कनेक्टिविटी और डिजिटल साक्षरता कौशल प्रशिक्षण प्रदान करता है।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययन – 3


 

विषय: विभिन्न सुरक्षा बल और संस्थाएँ तथा उनके अधिदेश।

4. चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ के पद की स्थापना के एक वर्ष होने पर सैन्य सुधारों पर एक मूर्त प्रभाव डालने के लिए एक गहन एवं स्पष्ट आत्मदर्शन की आवश्यकता है। विश्लेषण कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: Business Standard

निर्देशक शब्द:

 विश्लेषण कीजियेऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के बहुआयामी सन्दर्भों जैसे क्या, क्यों, कैसे आदि पर ध्यान देते हुए उत्तर लेखन कीजिये।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

जनरल बिपिन रावत की भारत के प्रथम “चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ” (CDS) के रूप में नियुक्ति पर चर्चा करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:  

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के गठन के प्रमुख लक्ष्य एवं उद्देश्यों का उल्लेख कीजिए।

उपरोक्त की प्राप्ति के लिए CDS के प्रदर्शन का विश्लेषण कीजिए।

निष्कर्ष:

अपने इच्छित उद्देश्यों को प्राप्त करने में CDS के पद के प्रभावी एवं इष्टतम उपयोग के लिए आगे का मार्ग प्रशस्त करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

  

विषय: विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और रोज़मर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव।

5. चूंकि अंतरिक्ष क्षेत्र 21वीं सदी के औद्योगिकीकरण के भविष्य के लिए छलांग लगाकर देश को आगे ले जा सकता है, इसलिए सरकार का ध्यान घरेलू विकसित अंतरिक्ष कंपनियों के लिए प्रौद्योगिकी के नेतृत्व वाले नवाचारों और उद्यमशीलता के लिए सक्षम पारिस्थितिकी तंत्र सुनिश्चित करने पर होना चाहिए। टिप्पणी कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: Live Mint 

निर्देशक शब्द:

 टिप्पणी कीजिये ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय पर अपने ज्ञान और समझ को बताते हुए एक समग्र राय विकसित करनी चाहिए।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

यह समझाते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए कि अंतरिक्ष क्षेत्र के उद्योग 4.0 के इंटरलिंकेज के साथ नवीन अंतरिक्ष आयु कम हो रही है एवं अनेक देशों, अधिक से अधिक संख्या में निवेश, नवाचार और लाभ लेने के लिए तैयार है।

 विषय वस्तु:

भारत के अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी घरेलू विकसित अंतरिक्ष कंपनियों की उपस्थिति और भागीदारी की वर्तमान स्थिति का उल्लेख कीजिए।

कुछ हालिया उदाहरण प्रस्तुत कीजिए, जैसे: अग्निकुल कॉस्मोस प्राइवेट लिमिटेड, एक चेन्नई स्थित स्टार्ट-अप, जो छोटे निजी उपग्रह प्रक्षेपण वाहन का निर्माण करता है, के साथ अंतरिक्ष विभाग ने हाल ही में एक गैर-प्रकटीकरण समझौते (NDA) में प्रवेश किया है। मई 2020 में इसने घरेलू अंतरिक्ष कंपनियों को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अत्याधुनिक प्रयोगशालाओं और हार्डवेयर परीक्षण अवसंरचना तक पहुंच की अनुमति देने का संकल्प लिया है।

उल्लेख कीजिए कि सरकार इन अंतरिक्ष कंपनियों के लिए कैसे एक सक्षम माहौल बना सकती है।

सुझाव दीजिए कि सुधारों की आवश्यकता है, लेकिन प्रचलित भू-राजनीतिक परिदृश्य को देखते हुए सरकार को सतर्क रहना चाहिए और सावधानी से चलना चाहिए।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययन – 4


 

विषय: सरकारी और निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएँ और दुविधाएँ।

 6. गर्भपात की प्रक्रिया में शामिल नैतिक दुविधाएं क्या हैं? गर्भपात पर जीवन- समर्थक एवं पसंद-समर्थक दृष्टिकोणों पर चर्चा कीजिए। गर्भपात के मुद्दे पर अपना पक्ष प्रस्तुत कीजिए। (150 शब्द)

सन्दर्भ: The Hindu

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

गर्भपात से सम्बंधित बहस के संदर्भ को प्रस्तुत करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

विषय वस्तु:

गर्भपात से जुड़ी नैतिक दुविधाओं को प्रस्तुत कीजिए।

गर्भपात पर जीवन- समर्थक एवं पसंद-समर्थक दृष्टिकोणों पर विस्तृत तर्क प्रस्तुत कीजिए।  उपरोक्त के प्रभाव को एक आलोचनात्मक माध्यम से प्रस्तुत कीजिए।

निष्कर्ष:

इस सन्दर्भ में अपने पक्ष को संक्षेप में बताइए एवं गर्भपात के मुद्दे पर अपने सकारात्मक, संतुलित और निष्पक्ष पक्ष प्रस्तुत करते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: मानव क्रियाओं में नैतिकता का सार, निर्धारक और परिणाम।

 7. एक कठिन और चुनौतीपूर्ण वर्ष के अंत के साथ, इस वर्ष से आप क्या सीख लेते हैं? (150 शब्द)

 सन्दर्भ:  The Hindu

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

वर्ष 2020 एवं इसकी कुछ प्रमुख घटनाओं के बारे में उल्लेख करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:   

अवलोकन पर यह एक सरल एवं सीधे प्रश्न की भांति प्रतीत हो सकता है लेकिन इस वर्ष से प्राप्त सीख को संक्षेप में प्रस्तुत करना एवं उन्हें अपने पाठ्यक्रम से जोड़ना थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

वर्ष 2020 से प्राप्त प्रमुख शिक्षाओं के बारे में उल्लेख कीजिए।

यह सुनिश्चित करें कि प्राप्त शिक्षाएं आपके पाठ्यक्रम और नैतिक मूल्यों से सम्बंधित हों।

निष्कर्ष:

नव वर्ष के लिए एक सकारात्मक दृष्टिकोण प्रस्तुत करते हुए निष्कर्ष निकालिए।


  • Join our Official Telegram Channel HERE for Motivation and Fast Updates
  • Subscribe to our YouTube Channel HERE to watch Motivational and New analysis videos